• डाउनलोड ऐप
Friday, May 7, 2021
No menu items!
spot_img

muslim

अमानुल्ला खान, जरा कुरान में झाँकें!

आम आदमी पार्टी के नेता अमानुल्ला खान ने 3 अप्रैल 2021 को एक ट्वीट किया। उन के शब्द हैं, “हमारे नबी की शान में गुस्ताखी हमें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं, इस नफरती कीड़े की जुबान और गर्दन दोनो काट कर...

मध्यप्रदेश में धर्म परिवर्तन बना दंडनीय अपराध, जबरिया शादी और धर्म बदलने पर रोक के लिए आया यह कानून

भोपाल | जोर-जबरदस्ती से धर्म परिवर्तन कराने और धोखा देकर विवाह रचाने की वारदात पर रोक लगाने के लिए मध्य प्रदेश में धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 लागू किया गया है। गौरतलब है कि राज्य में बीते साल धार्मिक स्वतंत्रता...

लव-जिहाद की अनदेखी न करें सभ्य समाज

गैर-मुस्लिम महिलाओं के लिए अधिकांश मुस्लिम पुरुषों का प्रेम मजहबी अभियान अधिक है। अर्थात्- यह इस्लाम के विस्तार हेतु जिहाद है। इस पृष्ठभूमि में क्या मजहब के नाम पर धोखे को स्वीकार करने से सभ्य समाज स्वस्थ रह सकता है?

भारतीय मुसलमान सर्वश्रेष्ठ

कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद की संसद से बिदाई अपने आप में एक अपूर्व घटना बन गई। पिछले साठ—सत्तर साल में किसी अन्य सांसद की ऐसी भावुक विदाई हुई हो, ऐसा मुझे याद नहीं पड़ता।

बंगाल में मुस्लिम धर्मगुरु ने बनाई पार्टी

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम समुदाय में अच्छा खासा असर रखने वाले फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी ने अपनी राजनीतिक पार्टी बना ली है।

राम मंदिर और मुसलमान

अयोध्या के राम मंदिर और मस्जिद का मामला शांतिपूर्वक हल हो रहा है, यह भारत के हिंदुओं और मुसलमानों दोनों की उदारता और सहिष्णुता का प्रमाण है। इससे भी बड़ी बात यह है कि कुछ मुसलमान संस्थाएं और सज्जन राम मंदिर निर्माण में उत्साहपूर्वक सहयोग कर रहे हैं।

औवेसी और भाजपा की लड़ाई में भविष्य क्या?

हिन्दुओं के बाद अब मुसलमान भी प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के जाल फंसने लगे हैं। जिस दो दलीय प्रणाली की बात आडवानी जी करते थे और जो वास्तव में दो ध्रुवीय राजनीति थी वह कामयाब होने लगी है।

ऑल इंडिया मुस्लिम पार्टी बनेगी!

क्या अंदरखाने देश में किसी ऑल इंडिया मुस्लिम पार्टी के निर्माण की तैयारी चल रही है? हाल में हुए दो-तीन चुनावों में ऐसे संकेत मिले हैं, जिनसे लगा है कि देश का मुस्लिम समाज अपने लिए नेता तलाश रहा है।

जम्मू-कश्मीर के बदलेंगे हालात

पेरिस और कश्मीर बीते दिनों आतंकी घटनाओं के साक्षी बने। जहां पेरिस में इस्लाम के नाम पर जिहादियों ने चार निरपराधों की हत्या कर दी, तो वही कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी के तीन नेताओं को आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया।

मुसलमानों की घर वापसी: क्यों और कैसे?

अस्त्र-शस्त्र का उत्तर अस्त्र-शस्त्र से देना उचित है। लेकिन विचारों का उत्तर तो विचार ही हो सकता है। किसी विचार, किसी लेख-कविता या पुस्तक के उत्तर में तलवार निकालना मजबूती नहीं, कमजोरी की निशानी है।
- Advertisement -spot_img

Latest News

यमराज

मृत्यु का देवता!... पर देवता?..कैसे देवता मानूं? वह नाम, वह सत्ता भला कैसे देवतुल्य, जो नारायण के नर की...
- Advertisement -spot_img