nayaindia madhya pradesh lok saba election प्रथम चरण की 6 सीटों पर आज थामेगा चुनाव प्रचार
Columnist

प्रथम चरण की 6 सीटों पर आज थामेगा चुनाव प्रचार

Share
Lok Sabha election 2024
Lok sabha election 2024

प्रदेश में प्रथम चरण में जिन 6 सीटों पर 19 अप्रैल को मतदान होना है उन सभी सीटों पर आज शाम 5 बजे चुनावी शोरगुल थम जाएगा और घर-घर दस्तक देना शुरू हो जाएगा लेकिन अंतिम ओवर की तरह अंतिम दिनों में भाजपा और संघ ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी है।

दरअसल जिन 6 सीटों सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में 19 अप्रैल को मतदान होना है। यह सभी सीटें आदिवासी वर्ग के मतदाताओं की बाहुल्यता वाली सीटें हैं। इसमें छिंदवाड़ा सीट पिछले 40 वर्षों से कमलनाथ का गढ़ बन चुकी है और भाजपा इस बार छिंदवाड़ा सीट को जीतने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहे हैं। यहां तक कि भाजपा के सबसे बड़े रणनीतिकार केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने 2 दिन पहले 16 अप्रैल को छिंदवाड़ा पहुंचकर जहां रोडशो किया।

वहीं रात्रि विश्राम छिंदवाड़ा में करके इरादे जाहिर कर दिये कि इस बार भाजपा छिंदवाड़ा में आर-पार की लड़ाई लड़ रही है। पिछले कुछ दोनों में जिस तरह से कमलनाथ की खास समर्थकों ने उनका साथ छोड़ा है उससे कमलनाथ को पहले ही झटका लग चुका है। अब खबर यह थी कि अमित शाह की छिंदवाड़ा पहुंचने से पहले जुन्नारदेव से कांग्रेस विधायक सुनील हुई के एवं उनकी पत्नी को परासिया में नवनिर्मित व्यावसायिक माल को लेकर नोटिस थमाया गया है जिसमें कहा गया है कि परासिया के वार्ड नंबर 7 में जो व्यवसायिक माल निर्मित किया गया है उसमें स्वीकृति के अतिरिक्त निर्माण किया गया है अतः स्वीकृति के दस्तावेज प्रस्तुत करें अन्यथा की स्थिति में स्वीकृति के विपरीत निर्माण पाए जाने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी उसके लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।

बहरहाल छिंदवाड़ा में मतदान के 50 घंटे पहले अमित शाह का शोर छिंदवाड़ा जीतने के प्रयासों की और महत्वपूर्ण श्रृंखला मानी जा रही है और जिस तरह से रोड शो में भीड़ जुटी और शाह ने रात्रि विश्राम छिंदवाड़ा में किया है। उसके बाद कमलनाथ और भी सतर्क और सावधान हो गये है पहली बार परिवार सहित चुनाव मैदान में उतरे कमलनाथ की भावनात्मक अपील पर शाह के शोर में मतदाताओं को सुनाई देती है उसी पर छिंदवाड़ा का परिणाम तय होगा।

छिंदवाड़ा में जहां अंतिम दिनों में अमित शाह ने चुनावी जमावट को अंतिम रूप दिया है। इसी तरह संघ ने जबलपुर मंडला बालाघाट शहडोल और सीधी लोकसभा सीटों पर आदिवासियों को साधने पर जोर दिया है केंद्र और राज्य की सरकारों के माध्यम से आदिवासियों के हित में जो भी कार्य किए गए हैं उनको याद दिलाया गया भाजपा संगठन ने बूथ स्तर पर समीक्षा किए और अधिकतम मतदान करने की रणनीति बनाई है। इन 6 सीटों में से छिंदवाड़ा और मंडला मैं कांग्रेस जिस उम्मीद के साथ चुनाव लड़ रही है उसे अब मतदाताओं का इशारा बचा है भाजपा के मुकाबले कांग्रेस के प्रयास कमजोर पड़ गये है वही जबलपुर बालाघाट शहडोल और सीधी में अब लड़ाई आसान नहीं रह गई है।

कुल मिलाकर प्रदेश की सीधी शहडोल जबलपुर मंडला बालाघाट छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में 19 अप्रैल को मतदान होना है। वहां आज शाम को चुनाव प्रचार भले ही थम जाएगा लेकिन घर-घर दस्तक देने और जोड़ तोड़ करने की राजनीति देखने लायक होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें