Tamil Nadu : DMK की 10 साल बाद सत्ता में वापसी, Udhayanidhi ने पहले ही चुनाव में 68,880 वोटों से हासिल की जीत

नई दिल्ली। Tamil Nadu Election Results 2021: तमिलनाडु की सत्ता में द्रविड़ मुन्नेत्र कडगम (DMK) ने पूरे 10 साल बाद सत्ता में वापसी की है। डीएमके यूथ विंग के सचिव उदयनिधि स्टालिन (Udhayanidhi Stalin) का यह पहला चुनाव था। अपने पहले चुनाव में ही उन्होंने चेपॉक सीट से 68,880 वोटों से जीत हासिल की। इस चुनाव में डीएमके की ईंट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसे भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव हारे सांसद क्या करेंगे? डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन (MK Stalin) के बेटे और एम करुणानिधि (M Karunanidhi) के पोते उदयनिधि स्टालिन ने पूरे चुनावी प्रचार में एक ईंट को एआईएडी एमके-भाजपा गठबंधन पर वार के लिए हथियार बनाया था। उदयनिधि ने जीत के बाद यह ईंट पिता स्टालिन को सौंपी। पार्टी प्रमुख एमके स्टालिन के बेटे उदयनिधि स्टालिन सुर्खियों में तब आए थे, जब उन्होंने प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, और गृहमंत्री अमित शाह से सीधी टक्कर ली. हर चुनावी रैली में उदयनिधि हाथ में ईंट लेकर एआईएडीएमके-भाजपा की ओर से राज्य की जनता से किए गए झूठे वादों की याद दिलाते थे। इस ईंट पर तमिल भाषा में एम्स लिखा है। जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए झूठे वादे का प्रतीक बताया गया है। इसे भी पढ़ें- मोदी-शाह की… Continue reading Tamil Nadu : DMK की 10 साल बाद सत्ता में वापसी, Udhayanidhi ने पहले ही चुनाव में 68,880 वोटों से हासिल की जीत

विजयन, सोनोवाल का राज लौटा, डीएमके भी जीती

नई दिल्ली। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल को छोड़ कर बाकी पांच राज्यों में वास्तविक नतीजे लगभग वैसे ही आए, जैसे एक्जिट पोल में बताया गया था। तमिलनाडु में एमके स्टालिन के नेतृत्व में डीएमके ने शानदार जीत दर्ज की तो केरल में कम्युनिस्ट पार्टी का राज लगातार दूसरी बार लौटा। असम में भी भाजपा लगातार दूसरी बार चुनाव जीतने में कामयाब रही। पुड्डुचेरी में कांग्रेस चुनाव हार गई है और रंगास्वामी की पार्टी एनआर कांग्रेस के साथ तालमेल में भाजपा पहली बार सत्ता में आई है। तमिलनाडु में लगातार दो चुनाव हारने के बाद एमके स्टालिन का जादू चला। करुणानिधि और जयललिता की गैरहाजिरी में हुए पहले चुनाव में स्टालिन की कमान में डीएमके गठबंधन ने 154 सीटों के साथ शानदार जीत दर्ज की। स्टालिन की पार्टी डीएमके को अकेले दम पर पूर्ण बहुमत मिला। उनकी पार्टी ने 118 सीटों के बहुमत के आंकड़े को अपने दम पर पार कर लिया। उसने अकेले 119 सीटें मिलीं और उसकी सहयोगी कांग्रेस पार्टी भी 16 सीटें जीतने में कामयाब रही। सत्तारूढ़ अन्ना डीएमके को बड़ा झटका लगा और देर रात तक नतीजों और रूझानों में वह सिर्फ 80 सीटें जीतने में कामयाब होती दिखी। तमिल और हिंदी… Continue reading विजयन, सोनोवाल का राज लौटा, डीएमके भी जीती

स्टालिन ने खुद किया फैसला

तमिलनाडु में कांग्रेस के नेता परेशान हैं और दिल्ली में भी कांग्रेस नेता बहुत सहज नहीं हैं। कांग्रेस की सहयोगी डीएमके के नेता एमके स्टालिन ने अपनी पार्टी से राज्यसभा के उम्मीदवार तय करते हुए कांग्रेस या दूसरी सहयोगी सीपीआई से कोई बात नहीं की।

स्टालिन, पनीरसेल्वम ने सुरक्षा हटाये जाने के केंद्र के निर्णय का किया स्वागत

द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन और अन्नाद्रमुक संयोजक एवं तमिलनाडु के उपमुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की वीआईपी सुरक्षा

स्टालिन, कनिमोझी ने कोलम के जरिए किया सीएए का विरोध

नारेबाजी, तख्तियों, जुलूसों और बैठकों के बाद द्रविड़ मुनेत्र कड़कम (द्रमुक) नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के खिलाफ अब पारंपरिक तमिल कोलम (अल्पना) का उपयोग कर रही है।

फारूक को हिरासत में लेना शर्मनाक,तुरंत रिहा करें: स्टालिन

द्रविड़ मुनेत्र कषगम(द्रमुक) अध्यक्ष एम के स्टालिन ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला को सार्वजनिक सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत हिरासत में लिये जाने को संवैधानिक मूल्यों

स्थानीय निकाय चुनाव को बाधित नहीं कर रही है द्रमुक : स्टालिन

द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) अध्यक्ष एवं विपक्ष के नेता एम के स्टालिन ने आज तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. के.पलानीस्वामी के उन आरोपाें का खंडन किया

और लोड करें