nayaindia Lok Sabha election 2024 प्रत्याशियों की प्रत्याशा में कांग्रेस
Columnist

प्रत्याशियों की प्रत्याशा में कांग्रेस

Share
Lok Sabha election 2024
Lok sabha election 2024

भोपाल। लोकसभा चुनाव के लिए आज से नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। भाजपा नेताओं ने मैदान में मोर्चा संभाल लिया है जबकि कांग्रेस को अभी भी 19 सीटों पर प्रत्याशियों का इंतजार है। दरअसल, लोक सभा का क्षेत्रफल विशाल होता है। अधिकांश लोकसभा क्षेत्र में आठ विधानसभा में आती हैं ऐसे में प्रत्याशियों को पूरे क्षेत्र में जनसंपर्क करने के लिए बहुत कम समय मिलता है। Lok Sabha election 2024

यह भी पढ़ें: नेतन्याहू न मानेंगे, न समझेंगे!

इस दृष्टि से भाजपा ने प्रत्याशी घोषित करने में बढ़त बना ली है। उसके सभी 29 लोकसभा क्षेत्र में चुनावी गतिविधियां प्रारंभ हो गई है। कहीं बैठक हो रही है, कार्यालय खुल रहे हैं और नामांकन पत्र दाखिल करने की तारीखे तय हो रही है जिसमें दिग्गज नेता प्रत्याशियों के फॉर्म भरने उपस्थित रहेंगे। मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव लगभग सभी 29 उम्मीदवारों के साथ फार्म भरवाने की योजना पर काम कर रहे हैं। इसी के तहत प्रदेश के पहले 6 सीटों पर जहां मतदान होना है वहां पर मुख्यमंत्री के पहुंचने का कार्यक्रम बन गया है। Lok Sabha election 2024

इसी के तहत आज बुधवार को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव सीधी और शहडोल के उम्मीदवारों के नाम निर्देशन पत्र जमा करने में शामिल होंगे। इस दौरान होने वाली रैली में भी डॉक्टर मोहन यादव शामिल होंगे। कार्यक्रम मुताबिक मुख्यमंत्री मोहन यादव बुधवार को शहडोल जाएंगे। जहां वे पार्टी की उम्मीदवार हिमाद्री सिंह का नामांकन पत्र भरवाएंगे इसके बाद सीधी जाएंगे।

यह भी पढ़ें: ऐसे कराएंगे एक साथ चुनाव!

जहां पार्टी के उम्मीदवार डॉ. राजेश मिश्रा का नाम निर्देशन पत्र दाखिल कर आएंगे जबकि 22 मार्च को मंडला जाएंगे जहां वे केंद्रीय मंत्री और भाजपा उम्मीदवार फग्गन सिंह कुलस्ते का नाम निर्देशन पत्र जमा करवाएंगे। मुख्यमंत्री के साथ स्थानीय या लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मंत्रिमंडल के सदस्य और संगठन के पदाधिकारी भी प्रत्याशियों के साथ रहेंगे। सभी 29 लोकसभा सीटों को जीतने का लक्ष्य लेकर चुनाव प्रचार में उतरी भाजपा इस बार छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर पूरी ताकत झोंक जा रही है। Lok Sabha election 2024

यह भी पढ़ें: चौटाला परिवार जाट वोट बंटवाएंगा

यहां से भाजपा उम्मीदवार विवेक साहू बंटी 27 मार्च को अपना नामांकन पत्र जमा करेंगे। उनका नामांकन पत्र जमा करवाने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के साथ भाजपा के अन्य दिग्गज नेता भी साथ में रहेंगे।

जिनमें मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रहलाद पटेल, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के अलावा आसपास के विधायक और संगठन पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। इसके बाद इसी दिन बालाघाट में भाजपा उम्मीदवार भारती पारधी का भी नामांकन पत्र दाखिल करवाने मुख्यमंत्री जाएंगे।

यह भी पढ़ें: चुनाव बेरोजगारी और महंगाई पर होगा

कुल मिलाकर भाजपा में जहां तेजी से चुनावी जमावट और नामांकन पत्र दाखिल करने के कार्यक्रम तय हो गए हैं। अधिकांश दिग्गज नेताओं ने मैदानी मोर्चा संभाल लिया है। वहीं दूसरी ओर प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के दिग्गज नेता जहां दिल्ली में उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया में व्यस्त है। वहीं कार्यकर्ता प्रत्याशियों की प्रत्याशा में टकटकी लगाए बैठा है।

उम्मीद थी कि आज उम्मीदवारों की सूची आ जाएगी लेकिन मंगलवार को कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक देरी से शुरू हुई जिसके कारण मध्यप्रदेश की सीटों पर चर्चा नहीं हो सकी और सूत्रों की माने तो अब यह बैठक 21 मार्च को होगी। तब तक कांग्रेसियों के लिए इंतजार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

हालांकि को सीटों पर उम्मीदवारों को पहले से संकेत दे दिए हैं कि वह अंदरूनी तौर पर अपनी तैयारी जारी रखें। मसलन, इंदौर में अक्षय कांति बम, राजगढ़ में रामचंद्र दांगी, उज्जैन में महेश परमार, भोपाल में अरुण श्रीवास्तव, होशंगाबाद में संजय शर्मा, बालाघाट में हिना कांवरे, झाबुआ में कांतिलाल भूरिया, दमोह में रंजीता गौरव, पटेल रीवा में नीलम अभय मिश्रा, शहडोल में फुन्देलाल सिंह मार्को के नाम तय माने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: विदेशी निवेश क्यों गिरता हुआ?

कुछ सीटों पर पार्टी के अंदरूनी सर्वे और नेताओं की सिफारिश मेल नहीं खा रही है। इस कारण नए नाम भी जुड़ रहे हैं। पार्टी उम्मीदवारों का चयन करते समय उनका पिछला ट्रैक रिकार्ड भी देख रही है। उनकी दक्षता और क्षमता का आंकलन भी कर रही है।

जैसे भोपाल में पिछला लोकसभा का चुनाव लड़े पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जी.पी. माली के लिए प्रयास कर रहे हैं जबकि संगठन और रणनीतिकार अरुण श्रीवास्तव को टिकट देने के पक्ष में है क्योंकि भोपाल लोकसभा के अंतर्गत अरुण श्रीवास्तव की मां स्वर्गीय विमल श्रीवास्तव फंदा जनपद की अध्यक्ष रही और जिला पंचायत भोपाल की भी अध्यक्ष रही और अरुण श्रीवास्तव पिछले कुछ वर्षों से ग्रामीण कांग्रेस के जिला अध्यक्ष भी है।

यह भी पढ़ें: केजरीवाल की अब गिरफ्तारी होगी

इसी तरह संजय शर्मा को होशंगाबाद सीट पर प्रत्याशी बनाया जा रहा है। इस क्षेत्र में संजय शर्मा की अच्छी पकड़ है और वह क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली तेंदूखेड़ा विधानसभा सीट से विधायक भी रहे हैं। इसी तरह रीवा में नीलम अभय मिश्रा को पार्टी टिकट देने जा रही है क्योंकि दोनों ही विधायक रहे हैं। Lok Sabha election 2024

जिला पंचायत अध्यक्ष रहे हैं और क्षेत्र में अच्छी पकड़ है पूर्व विधायक हिना कांवरे को बालाघाट में प्रत्याशी बनाया जा रहा है तो झाबुआ में कांतिलाल भूरिया प्रत्याशी हो सकते हैं क्योंकि वे यहां से चुनाव जीतते रहे हैं।

यह भी पढ़ें: उद्योग समूह देर से सक्रिय हुए

पिछला चुनाव हारने के बाद भी वे सक्रिय रहे और उनके पुत्र विक्रांत भूरिया विधानसभा का चुनाव जीत चुके हैं एवं युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष है। कुल मिलाकर टिकट चयन प्रक्रिया में भाजपा के मुकाबले कांग्रेस पीछे गई है।

नामांकन पत्र दाखिल करने की आज से प्रक्रिया शुरू हो रही है भाजपा जोर-जोर से दिग्गजों की उपस्थिति में आज से नामांकन पत्र प्रत्याशियों के भरवाएगी जबकि कांग्रेस को अभी भी 19 प्रत्याशियों का इंतजार है।

यह भी पढ़ें: राज्यपाल, जज, अधिकारी सब चुनाव लड़ेंगे

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें