बच्चे पढ़ें तो कैसे?

तो जाहिर है, शिक्षा के स्तर में सुधार के लिए शिक्षकों के रोजगार की शर्तों और ग्रामीण इलाकों में काम करने की स्थिति में सुधार करने की अविलंब आवश्यकता है।

दीपावली की छुट्टियों के लिए डोटासरा ने खोला दिल, 10 दिन की होंगी छुट्टियां

दीपावली की छुट्टियों को लेकर निकाले गए आदेश में संशोधन करते हुए शिक्षा मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा ने कहा है कि अब दीपावली की छुट्टियां 10 दिन की होंगी।

अब स्कूलों में बच्चे को तकलीफ हुई तो स्कूल जिम्मेदार, मान्यता हो सकती है रद्द

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने स्कूलों में छात्रों की सुरक्षा के लिए एक नीति तैयार की है। यह नीति छात्रों को किसी भी उत्पीड़न, शारीरिक चोट और मानसिक रूप से सुरक्षित रखने के लिए है।

Good News : आयुष्मान भारत योजना का 12 अक्टूबर से इस चीज में उठा सकेंगे फायदा…

आयुष्मान भारत योजना से जुड़े ट्रांसजेंडर को मेडिकल कवर के साथ ही सेक्स चेंज के लिए होने वाले ऑपरेशन में भी मदद मिलेगी. बता दें कि इसके पहले इस योजना का प्रयोग सिर्फ और सिर्फ मेडिकल कवर…

व्यवहार की भाषा ही देश की भाषा हो

जातीय अर्थात राष्ट्रीय उत्थान और सुरक्षा के लिये किसी भी देश की भाषा वही होना श्रेयस्कर होता है, जो जाति अर्थात राष्ट्र के कामकाज और व्यवहार की भाषा हो। समाज की बोल-चाल की भाषा का प्रश्न पृथक् है।

भारतीय ज्ञान परंपरा और शिक्षा में दूरी

लगभग सौ-सवा सौ वर्षों से भारत के महान ज्ञान-ग्रंथों के साथ विचित्र मजाक हुआ है। एक ओर पूरी दुनिया में उन का सतत निर्यात होता रहा, और हरेक देश के जिज्ञासुओं ने उन से लाभ उठाया।

अजब-गजब : ऑनलाइल क्लासेज में नहीं हो रही थी उपस्थिति तो लाउडस्पीकर लेकर बुलाने निकल पड़े शिक्षक ….

नई दिल्ली | Teachers Inviting through loudspeakers : कोरोना और लॉकडाउन के कारण देश में सबसे ज्यादा प्रभावित कुछ हुआ है तो वो है भारत की शिक्षा व्यवस्था. पिछले 2 सालों से स्कूलों और कॉलेजों में ताले लटके ही दिखाई दिये हैं. हालांकि बीच में एक ऐसा दौर भी आया जहां कुछ समय के लिए सबकुछ खुल गया था, उस समय लग रहा था कि अब कुछ दिनों में हालात सामान्य हो जाएंगे लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के काऱण एक बार फिर से स्थितियां वहीं पहुंच गई है. अब जब कोरोना की दूसरी लहर से कुछ राहत मिली है तो लोगों को उम्मीदें एक बार फिर से जाग गई हैं, देश की राजधानी दिल्ली में हालात कुछ ऐसे बन गए हैं कि लॉकडाउन के बाद ढूंढने से भी छात्र नहीं मिल रहे हैं. अब परेशानियों से निपटने के लिए राजधानी के सरकारी स्कूलों ने एक नई मुहिम चलाई है. दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 8 के सर्वोदय विद्यालय के शिक्षकों द्वारा गांव के आसपास की झुग्गी झोपड़ियों में जाकर लाउडस्पीकर से बच्चों को बुलाया जा रहा है. शिक्षकों की यह मुहिम सोशल मीडिया में भी तेजी से वायरल हो रही है और लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं. सब्जी… Continue reading अजब-गजब : ऑनलाइल क्लासेज में नहीं हो रही थी उपस्थिति तो लाउडस्पीकर लेकर बुलाने निकल पड़े शिक्षक ….

Haryana : 10 साल की बच्ची का गैंगरेप, आरोपियों में से 3 तो रिश्तेदार…

रेवाड़ी | देश में महिलाओं के प्रति अपराध लगातार बढ़ता जा रहे है. अब नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं. ऐसे ही एक मामला हरियाणा के रेवाड़ी जिले से सामने आया है. जानकारी के अनुसार स्कूल की बिल्डिंग के बगल में मैदान में खेलने वाले कुछ बच्चों ने 10 साल की मासूम के साथ गैंग रेप किया और इसके बाद अपने अपने घर चले गए. सबसे बड़ी हैरानी की बात यह है कि गैंग रेप करने वाले इन आरोपी बच्चों में सिर्फ तीन उसके अपने रिश्तेदार थे. एक और आश्चर्य की बात है कि इस गैंगरेप को अंजाम देने वाले बच्चों में सिर्फ एक ही बालिग अट्ठारह वर्ष का लड़का था और बाकी सारे युवकों की उम्र 10 से 12 वर्ष के लगभग थी.   जानकारी के बाद अभिभावकों ने दर्ज की शिकायत यह वारदात 24 मई की बताई जा रही है. इस वारदात को अंजाम देने के बाद ना तो युवकों ने कुछ कहा और ना ही बालिका नहीं घर आकर अपने मां-बाप को इसके बारे में जानकारी दी. इस गैंगरेप को अंजाम देने के दौरान किसी युवक ने इस पूरे वारदात का एक वीडियो बना लिया था और फिर उसे सोशल मीडिया में वायरल… Continue reading Haryana : 10 साल की बच्ची का गैंगरेप, आरोपियों में से 3 तो रिश्तेदार…

सब खलास, शिक्षा सर्वाधिक!

सत्य है मनुष्य जब है तो सब खत्म नहीं हुआ करता! फिर भारत तो 140 करोड़ लोगों की भीड़ है। उस नाते खत्म और खलास होने की बात में मेरा मतलब है कि जो इकट्ठा, संग्रहित था वह खलास। मैं नवंबर 2016 को भारत के 140 करोड लोगों का टर्निंग प्वांइट मानता हूं। तभी से लगातार लिख रहा हूं कि भारत का महा बरबादी काल प्रारंभ। लक्ष्मी की चंचलता खत्म सो भारत को वह श्राप, जिससे तय बरबादी। कोई न माने लेकिन गौर करें कि तभी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी गलती को अभूतपूर्व कामयाबी करार देने के लिए भक्त लंगूरों, आईटी टीम से ऐसा झूठ बनवाया कि पूरा देश ही झूठा हो गया। नोटबंदी से शुरू झूठ महामारी को भी ‘अवसर’ बना गया। तभी भारत का एकत्र सब, भारत की बचत, आर्थिकी, प्रगति, निर्माण, शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य, भारत की ऊर्जा याकि नौजवानी छीज-छीज कर खलास हुई। तभी कोरोना वायरस की महामारी आई तो उससे लड़ने के लिए हमारे पास कुछ नहीं था। हम पहले दिन से लेकर आज तक महामारी से लगातार झूठ में लड़ रहे हैं। यह भी पढ़ें: आर्थिकी भी खलास! यह भी पढ़ें: आधुनिक चिकित्सा पर शक! बारीकी से सोचें कि नवंबर 2016 से जून… Continue reading सब खलास, शिक्षा सर्वाधिक!

CBSE ने कहा- 12वीं की परीक्षा को लेकर अबतक नहीं हुआ कोई निर्णय, दी जाएगी जानकारी

New Delhi : देश में कोरोना के इस प्रकोप के कारण सबसे ज्यादा अगर कुछ प्रभावित हुआ है तो वो है भारत की शिक्षा व्यवस्था. एक-एक कर सभी राज्यों के स्टेट बोर्ड ने अपनी 10 वीं की परीक्षाओं को रद्द कर दिया था. CBSE ने भी 10 वीं की परीक्षाओं को रद्द करते हुए कहा था कि कोरोना के हालातों में बच्चों की परीक्षा लिया जाना सेफ नहीं है. हालांकि CBSE की ओर से 12 वीं की परीक्षाओं को रद्द नहीं किया गया था. 12 वीं की परीक्षाओं के लिए CBSE ने समय ले लिया था. इस संबंध में कहा गया था कि 12 वीं की परीक्षाओं पर सोचने समझने के बाद ही कुछ फैसला लिया जा सकेगा. इस संबंध में CBSE ने आज कहा कि 12वीं बोर्ड की लंबित परीक्षा को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है. कोविड-19 महामारी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए छात्रों एवं अभिभावकों का एक वर्ग इस परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहा है. अभी नहीं लिया गया कोई फैसला, CBSE ने किया स्पष्ट CBSE के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह स्पष्ट किया जाता है कि 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर ऐसा (रद्द करने संबंधी) कोई फैसला नहीं… Continue reading CBSE ने कहा- 12वीं की परीक्षा को लेकर अबतक नहीं हुआ कोई निर्णय, दी जाएगी जानकारी

Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

Bhopal: देशभर में कोरोना अपना कहर बरसा रहा है. देश में कोरोना की दूसरी लहर से हर तरफ हाहकार मचा हुआ है. ऐसे हालातों में अब मध्य प्रदेश से डराने वाली खबर आई है. मध्य प्रदेश के जूनियर डॉक्टर अब हड़ताल पर चले गये हैं. कोरोना के प्रकोप के बीच जूनियर डॉक्टरों के इस फैसले ने राज्य सरकार की  परेशानियों को भी बढ़ा दिया है.  जूनियर डॉक्टरों की मुख्य मांग है कि उन्हें  बेहतर कोविड-19 उपचार एवं एक साल की फीस माफी मिले. इसके साथ ही जूनियर डॉक्टर और भी अपनी कई मांगों के साथ ही हड़ताल परप चले गये हैं. जानकारी के अनुसार फिलहाल मध्य प्रदेश के 6 सरकारी मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर (जूडा) आज सुबह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं. राज्य सरकार को करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हए अचानक से जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से मध्य प्रदेश की सरकार को कईज्ञ तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामलों में आ रही तेजी के चलते इससे निपटने के लिए चिकित्सकों, चिकित्सीय ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शनों एवं अन्य चीजों की सरकार को आवश्यक्ता है. ऐसे में से जूनियर… Continue reading Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

हनुमान जयंती 2021 :  कल है हनुमान जयंती, जाने पूजा विधि, शुभ मुहुर्त और बजरंगबली का पंसदीदा भोग

र्चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को हनुमान जन्मोत्सव मनाया जाता है। इस दिन को हनुमान जयंती के नाम से भी जानते हैं। शास्त्रों के अनुसार, हनुमान जन्मोत्सव कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी और चैत्र शुक्ल पूर्णिमा दोनों दिन मनाया जाता है। इस साल चैत्र मास की शुक्ल पूर्णिमा 27 अप्रैल 2021 को है। संयोग से इस दिन मंगलवार पड़ रहा है। और हनुमान जी का जन्म मंगलवार के दिन हुआ था तो ये और भी शुभ संयोग है। इस दिन हनुमान जी के साथ भगवान राम की भी पूजा की जाती है। शास्त्रों में भगवान राम ही हनुमान जी के अराध्य बताए गए हैं। ऐसे में बजरंगबली को प्रसन्न करने के लिए भगवान राम की भी पूजा की जाती है। इस दिन हनुमान जी का पूजा कर जीवन की तमाम बाधाओं को दूर किया जा सकता है। इस दिन विशेष तरह के प्रयोगों से ग्रहों को भी शांत किया जा सकता है.। शिक्षा, विवाह के मामले में सफलता और कर्ज, मुकदमे से मुक्ति के लिए यह दिन अति विशेष होता है। हनुमान जी की पूजा करने से भक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है। इस दिन पूर्णिमा होने के कारण भगवान विष्णु की पूजा और सत्यनारायण की कथा भी सुनी… Continue reading हनुमान जयंती 2021 : कल है हनुमान जयंती, जाने पूजा विधि, शुभ मुहुर्त और बजरंगबली का पंसदीदा भोग

54 फीसदी Indian student अब ऑनलाइन लर्निंग मॉडल के लिए सहज हैं: सर्वेक्षण

नई दिल्ली | भारत के लगभग 54 फीसदी छात्र अब ऑनलाइन लर्निंग मॉडल (online learning model) के लिए सहज हैं। यह खुलासा ब्रेनली के सर्वेक्षण (Branley’s survey) से हुआ है, जो एक ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म (Online learning platform) है। लॉकडाउन एंड लर्न-फ्रॉम-होम मॉडल नाम का सर्वेक्षण देश भर के 2,371 छात्रों पर किया गया था, ताकि यह समझा जा सके कि पिछले वर्ष ने भारत (India) के छात्रों के शिक्षा (Education) और सीखने के पैटर्न को कैसे बदला है। हाल ही में कोविड-19 के मामलों में हुए जबरदस्त उछाल के साथ, अधिकांश छात्र वर्तमान में स्कूल जाने के बारे में आशंकित थे। अभी के हालात को देखते हुए लगभग 56 प्रतिशत छात्रों ने ऑनलाइन सीखने को जारी रखा। सर्वेक्षण में शामिल आधे से अधिक छात्रों ने दूसरों पर मिश्रित शिक्षण मॉडल को प्राथमिकता दी। इसके अलावा छात्रों ने ऑनलाइन शिक्षण प्लेटफार्मों के साथ अधिक सशक्त महसूस किया। लगभग दो-तिहाई छात्रों ने कहा कि वे अब पहले से अधिक ‘लचीले’ और ‘आत्मनिर्भर’ थे। इसे भी पढ़ें – Uttar Pradesh: गर्भवती महिलाओं को राहत, अस्पतालों में बिना Corona Report की जाएंगी भर्ती उनमें से भी छात्रों ने अधिक ‘आत्मविश्वास’ महसूस किया। छात्रों के एक बड़े समूह ने यह भी दावा किया कि ऐसे… Continue reading 54 फीसदी Indian student अब ऑनलाइन लर्निंग मॉडल के लिए सहज हैं: सर्वेक्षण

देवतुल्य है, ये डॉक्टर !

आजकल डाक्टरी, वकालत और शिक्षा— ये तीन सेवाएं नहीं, धंधे माने जाते हैं। यदि कोई धंधा करता है तो पैसा तो वह बनाएगा ही ! इन तीनों सेवाओं को सीखने के दौरान जो अनाप-शनाप खर्च करना पड़ता है

स्वास्थ्य और शिक्षा मुद्दे पर बहस करने सिसोदिया पहुंचे लखनऊ

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आज यूपी में स्वास्थ्य और शिक्षा के मुद्दे पर बहस करने लखनऊ पहुंचे। सिसोदिया ने कहा कि सिद्धार्थ नाथ सिंह की चुनौती को स्वीकार करके हम लखनऊ तो आ गए हैं

और लोड करें