Border Dispute

  • चीन के मंसूबों की अनदेखी नहीं हो!

    हांगकांग के ‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ की रिपोर्ट में बताया गया है कि चीनी सरकार भूटान सीमा में उन गांवों के निकट का निर्माण/विस्तार कर रही है, जो सुरक्षा की दृष्टि से भारतीय सीमा के लिए महत्वपूर्ण है।....आखिर चीन की मंशा क्या है? वास्तव में, वह भारत को लक्षित करके अपनी साम्राज्यवादी योजना के अनुरूप, भूटान में गांवों का विस्तार करके सीमा को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। India China border dispute क्या भारत, चीन पर विश्वास कर सकता है? जब देश आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त है, तब चीन सीमा पर अपनी साम्राज्यवादी नीति को...

  • भारत की अपनी जब गलती

    अगर केंद्रीय मंत्रियों से लेकर अरुणाचल भाजपा के वक्तव्यों को स्वीकार कर लिया जाए, तो यह समझना किसी भारतीय नागरिक के लिए मुश्किल हो जाएगा कि चीन के साथ हमारी नई दिक्कत क्या है? ये दोनों खबरें परेशान करने वाली हैं। पहली खबर यह है कि लद्दाख के देपसांग क्षेत्र में चीन के साथ चल रही सैनिक कमांडरों की पिछली बैठक में चीन ने वहां 15 किलोमीटर का बफर जोर बनाने की मांग की। चीन की मर्जी यह है कि उसमें कम से कम दस किलोमीटर का बफर जोन उन इलाकों में बने, जिन पर भारत का नियंत्रण है। इसके...

  • गश्त की 26 जगहों से पीछे हटी सेना!

    नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ पिछले करीब दो साल से चल रहे गतिरोध को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। लद्दाख की एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि पूर्वी लद्दाख में 26 पेट्रोलिंग प्वाइंट ऐसे हैं, जहां अब भारतीय सेना गश्त नहीं करती है। यह बहुत चौंकाने वाली और चिंता में डालने वाली बात है। पुलिस अधिकारी ने यह भी कहा है कि लंबे समय तक भारतीय सेना इन क्षेत्रों से अनुपस्थित रहती है तो भारत को आगे चल कर अपनी जमीन गंवानी पड़ सकती है। केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के मुख्य शहर लेह...