रिमोट पढ़ाई क्या जश्न की बात है?

निर्मला सीतारमण के वित्त वर्ष 2022-23 का बजट पेश करने के बाद से ही एक तबका इस बात का जश्न मना रहा है कि सरकार ई-यूनिवर्सिटी खोलने जा रहा है

बजट और कैसा होता?

इस रूप में यह बजट सरकार की पॉलिटकल इकॉनमी को भी और मजबूत करता है। मोदी सरकार की पॉलिटिकल इकॉनमी इजारेदार क्रोनी पूंजी और हिंदुत्व के भावनात्मक माहौल पर टिकी हुई है।

बजट से बाजीगरी दिखाने की बेताबी

केंद्र सरकार के बजट में मध्य प्रदेश की केन बेतवा लिंक परियोजना पर 44 हजार करोड़ से अधिक राशि खर्च की जानी हैI

कोरोना के चलते आज से शिफ्ट में होगा संसद का कामकाज, अब ये होगा दोनों सदनों का नया समय

कोरोना महामारी की गंभीरता को देखते हुए संसद के कामकाज (Budget Session 2022) को भी आज से दो शिफ्ट में बांट दिया गया है। जिसके अनुसार, सुबह राज्यसभा की कार्यवाही चलेगी और शाम को लोकसभा की कार्यवाही।

आर्थिकी के अगर-मगर

देश की अर्थव्यवस्था के प्रति सरकार का कैसा लापरवाह नजरिया है, इसकी एक मिसाल भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार पद के प्रति उसका रुख है।

कंगाली छुपा कंगाली लाने वाला बजट!

हिसाब घर का हो या देश का, वह सच्चाई में होना चाहिए! उस नाते सोचें कि सन् 2016 में नोटबंदी के बाद से हमारे घर-परिवार और भारत देश की कमाई-खर्च का क्या सत्य है?

बजटः निर्गुण और सगुण दोनों ही

इस साल का जो बजट पेश किया गया है, उसे भाजपा के नेता अगले 25 साल और 100 साल तक के भारत को मजबूत बनाने वाला बजट बता रहे हैं और विपक्षी नेता इसे बिल्कुल बेकार और निराशाजनक घोषित कर रहे हैं।

बिना झूनझूनों का रूटीन बजट!

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव चल रहे हैं।

पेट्रोल, डीजल पर अतिरिक्त उत्पाद शुल्क लगाया

केंद्र सरकार ने पिछले दिनों पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों में कमी के लिए उत्पाद शुल्क में कटौती की थी।

मोबाइल-हीरा सस्ता होगा, छाता महंगा होगा

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को अपना चौथा बजट पेश किया और कुछ उत्पादों पर आयात शुल्क घटाने का ऐलान किया।

एक लाख 40 हजार करोड़ का रेल बजट

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट में भारतीय रेलवे के लिए एक लाख 40 हजार करोड़ रुपए से कुछ ज्यादा का प्रावधान किया।

रक्षा बजट में 10 फीसदी की बढ़ोतरी

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रक्षा क्षेत्र को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 68 फीसदी खरीद घरेलू कंपनियों से करने का ऐलान किया है।

टैक्स नहीं बढ़ाया यही बड़ी बात: वित्त मंत्री

वित्त मंत्री ने अपनी पहली प्रेस कांफ्रेंस में कहा- यह बजट आम लोगों का बजट है। उन्होंने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में जीएसटी की व्यवस्था की भी जम कर तारीफ की।

‘आम आदमी’ के लिए कैसा रहा आम बजट 2022, जानें क्या मिली राहत और किस पर बढ़ा बोझ

देश में आगामी चुनावों को देखते हुए ज्यादा कुछ बोझ जनता पर नहीं डाला गया है। बजट में सभी वर्गों को ध्यान में रखते हुए कई बड़ी घोषणाएं की गई हैं। जिनमें से की घोषणाओें से लोगों की जेब पर भार बढ़ेगा तो कुछ

Budget 2022: देश के युवाओं के लिए खुला नौकरियों का पिटारा, बेरोजगारों को 60 लाख नई नौकरियां देने की घोषणा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत 16 लाख बेरोजगारों और युवाओं को नौकरियां दी जाएंगी। मेक इन इंडिया के तहत 60 लाख नौकरियां आएंगी।

और लोड करें