• डाउनलोड ऐप
Friday, May 7, 2021
No menu items!
spot_img

Maharashtra politics

एनसीपी से कांग्रेस और शिव सेना दोनों नाराज

महाराष्ट्री की महाविकास अघाड़ी सरकार में खींचतान चलती रहती है। वहां सरकार में तीन पार्टियां शामिल हैं और उनके समीकरण बदलते रहते हैं। कभी लगता है कि एनसीपी और शिव सेना एक साथ हैं, कभी लगता है कि शिव...

एनसीपी नहीं, शिव सेना खतरे में!

महाराष्ट्र में सत्ता और राजनीति का समीकरण तेजी से बदल रहा है। राज्य सरकार और सत्तारूढ़ गठबंधन को संकट में डालने वाला जो विवाद शरद पवार की पार्टी एनसीपी के नेता अनिल देशमुख से शुरू हुआ था उसके जाल...

महा विकास अघाड़ी का मामला सुलझा

शरद पवार की क्या राजनीति है, इस पर कांग्रेस में इन दिनों बहुत मंथन चल रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी प्रचार में नहीं जा रही हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि उन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया है।...

विपक्ष की कमान कौन संभालेगा?

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बीच कायदे से विपक्ष के नेतृत्व संभालने वाली बात नहीं उठनी चाहिए थी लेकिन विपक्षी पार्टियों के नेताओं की राजनीति से यह सवाल उठा है।

शिव सेना में पवार से नाराजगी

महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार का नेतृत्व कर रही शिव सेना में अपने सहयोगी शरद पवार से नाराजगी है।

महाराष्ट्र में भाजपा किसके खिलाफ?

यह हैरान करने वाली खबर है कि भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एनसीपी के प्रमुख शरद पवार और उनके डिप्टी प्रफुल्ल पटेल से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि अहमदाबाद में एक बड़े कारोबारी के यहां शनिवार को रात 11 बजे के बाद इन तीनों नेताओं की मुलाकात हुई, जो करीब 45 मिनट तक चली।

पवार की राजनीति का स्टाइल

यह पता नहीं है कि शरद पवार ने अमित शाह से मुलाकात में उनके सामने क्या गाजर लटकाई लेकिन यह पक्की बात है कि पवार ने अपने स्टाइल में अपना दांव साध लिया है।

शाह-पवार की मुलाकात के किस्से

देश के पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव चल रहे हैं। इससे बड़ा राजनीतिक घटनाक्रम दूसरा नहीं है लेकिन पिछले तीन दिन यानी शनिवार से सोमवार तक मीडिया और सोशल मीडिया में सर्वाधिक चर्चा वाला जो राजनीतिक मुद्दा रहा वह अमित शाह और शरद पवार की कथित मुलाकात का रहा।

ठाकरे ने बढ़ाई कांग्रेस की चिंता

उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में बजट भाषण पर चर्चा के दौरान अपने भाषण में कई ऐसा बातें कहीं, जिनसे कांग्रेस में चिंता हुई है। उन्होंने मजाकिया अंदाज में भाजपा पर तंज करते हुए कहा कि ‘हम पहले उनके साथ थे और आगे भी कभी साथ हो सकते हैं’।

शिव सेना जैसी कांग्रेस की राजनीति!

महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी और उसकी सहयोगी एनसीपी इस समय शिव सेना के साथ सरकार में शामिल हैं। सरकार में शामिल होने से ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस पर शिव सेना का असर होने लगा है।
- Advertisement -spot_img

Latest News

यमराज

मृत्यु का देवता!... पर देवता?..कैसे देवता मानूं? वह नाम, वह सत्ता भला कैसे देवतुल्य, जो नारायण के नर की...
- Advertisement -spot_img