भाजपा भावी सहयोगी- उद्धव

महाराष्ट्र में एक बार फिर सियासी हलचल तेज हो गई है। राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक सार्वजनिक कार्यक्रम में अपनी पुरानी सहयोगी भाजपा को भावी सहयोगी बताया, जिसके बाद अटकलों का दौर शुरू हो गया है

Maharashtra में तीसरी लहर की आशंका! ये सात जिले बढ़ा रहे दहशत, CM की लोगों से अपील- जिंदगी से ना खेलें

7 जिलों में नए संक्रमणों की वृद्धि दर और साप्ताहिक सकारात्मकता दर बहुत ज्यादा है। ऐसे में अब गणेश उत्सव (Ganesh Festival) भी आ रहा है और गणेश उत्सव इन जिलों में बड़े पैमाने पर मनाए जाने की संभावना है

महाराष्ट्र में सुलझेगा विधान परिषद का मसला

राज्यपाल से मुख्यमंत्री की मुलाकात के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि विधान परिषद में मनोनयन का विवाद खत्म हो जाएगा। 

शिव सेना से लड़ाई में भाजपा राणे के साथ नहीं

महाराष्ट्र में नारायण राणे शिव सेना के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। वे लगातार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनकी पार्टी को निशाना बना रहे हैं।

उद्धव बनाम राणे विवाद का फायदा किसको?

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और भाजपा नेता नाराय़ण राणे में जंग छिड़ी है। पिछले ही महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राणे को केंद्र सरकार में मंत्री बनाया है।

Narayan Rane को मिली जमानत, आधी रात को मुंबई में समर्थकों ने जमकर मनाया जश्न, राणे का शानदार स्वागत

मुंबई | Narayan Rane Bail: महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले गिरफ्तार हुए केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) को कोर्ट से राहत मिल गई। राणे को रायगढ़ कोर्ट ने 15 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दे दी। राणे को बेल पर रिहा करते ही बीजेपी कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ गई और आधी रात को ही मुंबई पहुंचे राणे का जमकर स्वागत किया गया। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर जश्न मनाया। फिर से देखने को मिली भाजपा और शिवसेना के बीच जंग! राणे और ठाकरे के बीच हुए इस घमासान ने एक बार फिर से करीब आते हुए भाजपा और शिवसेना के बीच जंग छेड़ दी है। इसे देखकर तो लगता है कि अब ये मामला ऐसे ही शांत नहीं होने वाला। राणे की गिरफ्तारी के वक्त शिवसेना जश्न में थी तो राणे को जमानत मिलते ही भाजपा ने भी जमकर जश्न मनाया। ये भी पढ़ें :- सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, Yogi Govt ने बढ़ाया महंगाई भत्ता, अगस्त के वेतन के साथ मिलेगा फायदा पुलिस ने कोर्ट से मांगी रिमांड, मिली जमानत इससे पहले इस पूरे घटना क्रम में कई उतार चढ़ाव आए। पुलिस केन्द्रीय मंत्री राणे… Continue reading Narayan Rane को मिली जमानत, आधी रात को मुंबई में समर्थकों ने जमकर मनाया जश्न, राणे का शानदार स्वागत

महाराष्ट्र CM के खिलाफ विवादित टिप्पणी केन्द्रीय मंत्री को पड़ी भारी, नारायण राणे को पुलिस ने किया गिरफ्तार

नासिक पुलिस ने मंत्री नारायण राणे को रत्नागिरी जिले से गिरफ्तार कर लिया है। नारायण राणे इस दौरान जन आशीर्वाद यात्रा पर थे। पुलिस ने बताया कि हिरासत में लेने के बाद राणे को संगमेश्वर थाना ले जाया गया..

महाराष्ट्र के नेताओं को समझाएंगी सोनिया!

क्या कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी महाराष्ट्र के अपने नेताओं को समझाएंगी और उन्हें चुप रहने के लिए कहेंगी? यह लाख टके का सवाल है। शिव सेना के नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोनिया की बुलाई वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेने की सहमति दे दी है।

Maharashtra: CM उद्धव ठाकरे के सेक्रेटरी को धमकी, मांगें मानें नहीं तो भुगते परिणाम

मुंबई | Maharashtra के मुख्यमंत्री के सेक्रेटरी को गलत कामों में फंसाने की धमकी के बाद से मुंबई पुलिस एक्टिव हो गई है। जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के सेक्रेटरी मिलिंद नारवेकर को व्हट्सएप पर एक धमकी (Uddhav Thackeray Secretary Threats) दिए गई है जिसमें उन्हें फंसाने की बात कही गई है। इस मैसेज की जानकारी सेक्रेटरी मिलिंद नारवेकर ने मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले को दे दी है जिसके बाद मुंबई क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच में जुटी हुई है और उस शख्स को तलाशा जा रहा है जिसने ये मैसेज किया है। ये भी पढ़ें :- Twitter से तकरार के बीच Manish Maheshwari को हटाया, अब अमेरिका में सौंपी गई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मांग पूरी करो वरना कराई झूठे मामलों में होगा फंसना इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि, नारवेकर को एक अज्ञात फोन नंबर से व्हट्सएप धमकी (Uddhav Thackeray Secretary Threats) मिली है जिसमें उसने अपनी कुछ मांगें लिखी हैं और कहा है कि अगर वो इन मांगो को पूरा नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ CBI, ED, NIA और केंद्र सरकार की एजेंसी से जांच कराई जाएगी और उन्हें झूठे मामलों में फंसा दिया जाएगा। बता दें कि नारवेकर शिवसेना के… Continue reading Maharashtra: CM उद्धव ठाकरे के सेक्रेटरी को धमकी, मांगें मानें नहीं तो भुगते परिणाम

एक करोड़ लोगों को Corona Vaccine की दोनों डोज देने वाला पहला राज्य बना Maharashtra

नई दिल्ली | Corona Vaccination in Maharashtra: भारत में अभी भी 30 से 40 हजार कोरोना के नए केस रोज सामने आ रहे हैं। ऐसे में कोरोना महामारी से बचाव का अब एक ही उपाय बचा है और वो है कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccination)। इसलिए भारत सरकार कोरोना से जंग लड़ने में वैक्सीनेशन पर लगातार जोर देती आ रही है। अभी तक कोरोना की दूसरी लहर से सबसे ज्यादा प्रभावित रहना वाला महाराष्ट्र अब कोरोना वैक्सीनेशन की दौड़ में भी आगे निकल गया है। महाराष्ट्र देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां एक करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक दे दी गई है। Corona Vaccination in Maharashtra: रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार तक महाराष्ट्र में 1,00,99,524 लोगों को वैक्सीन की दोनों खुराक लगाई जा चुकी है। वहीं 25 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। ये भी पढ़ें:- देश में कोरोना से बड़ी राहत, पिछले 24 घंटे में 30 हजार से कम आए नए मामले, पाबंदियों में और मिलेगी छूट! Corona Vaccination in Uttar Pradesh: वहीं दूसरी ओर, उत्तर प्रदेश में अब तक सबसे ज्यादा 4.52 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाई गई है। उत्तर प्रदेश में 73 लाख लोगों को वैक्सीन… Continue reading एक करोड़ लोगों को Corona Vaccine की दोनों डोज देने वाला पहला राज्य बना Maharashtra

क्या शिव सेना-भाजपा में कोई खिचड़ी?

shiv sena BJP : हो सकता है दोनों पार्टियों में खिचड़ी पकरने की अफवाहे भाजपा ही बनवा रही हो। इसलिए कि महाराष्ट्र जैसे कमाऊ-सियासी प्रदेश की सत्ता से बाहर होना मोदी सरकार को भी बैचेन बनाए रखने वाला है। तभी लगातार चर्चा है महा विकास अघाड़ी में सब कुछ ठीक नहीं है। यह सब कुछ ठीक नहीं चलने का सिलसिला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के प्रधानमंत्री से मिलने के बाद शुरू हुआ। उसके तुरंत बाद शिव सेना के सबसे मुखर नेता संजय राउत ने प्रधानमंत्री को भाजपा और देश का सर्वोच्च नेता बताते हुए तारीफ की। खुद उद्धव ने भी कहा कि वे भले भाजपा से अलग हो गए हैं लेकिन मोदी से रिश्ते खत्म नहीं हुए हैं। यह भी पढ़ें: योजना में अटका है एमएलसी का मामला! अब खबर है कि संजय राउत और मुंबई महानगर के भाजपा अध्यक्ष रहे आशीष सेलार के बीच एक गुप्त मीटिंग हुई है। जब खबर आम हो गई तो राउत ने कहा कि दोनों एक-दूसरे को काफी समय से जानते हैं और इसलिए इस मुलाकात में ज्यादा कुछ नहीं देखना चाहिए। लेकिन इस मुलाकात की खबर के तुरंत बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस का एक बयान आया, जिसमें उन्होंने कहा- शिव सेना हमारी दुश्मन… Continue reading क्या शिव सेना-भाजपा में कोई खिचड़ी?

कोश्यारी को स्पीकर नियुक्ति की चिंता!

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ( governor bhagat singh koshyari ) को इस बात की चिंता है कि विधानसभा में अभी तक स्पीकर की नियुक्ति क्यों नहीं हुई। गौरतलब है कि कांग्रेस के नाना पटोले स्पीकर थे, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। उसके बाद से अभी तक कांग्रेस पार्टी स्पीकर का नाम नहीं तय कर पाई है। पर इसके बगैर कोई आफत नहीं आ रही है, जिसकी वजह से राज्यपाल को सवाल पूछना पड़े। लेकिन क्या सचमुच राज्यपाल की चिंता है या भाजपा की चिंता है? पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता देवेंद्र फड़नवीस एक प्रतिनिधिमंडल लेकर राज्यपाल से मिलने गए थे और उसके अगले ही दिन राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से यह सवाल पूछ दिया कि स्पीकर कब तक नियुक्त होगा। यह राज्यपाल की स्वाभाविक चिंता नहीं है। भाजपा को इस समय कांग्रेस, एनसीपी और शिव सेना के बीच चल रही खींचतान पर राजनीति करनी है इसलिए उसने यह मुद्दा उठाया है। यह भी पढ़ें: यूपी में किसान वोट बांटने का खेल सवाल है कि जिस राज्यपाल को समय पर स्पीकर नियुक्ति की इतनी चिंता है उसने विधान परिषद के 12 सदस्यों का मनोनयन क्यों आठ महीने से लटका रखा है? महाराष्ट्र… Continue reading कोश्यारी को स्पीकर नियुक्ति की चिंता!

शिव सेना जानती है कांग्रेस की मजबूरी

maharashtra politics mahavikas aghadi Sarkar : महा विकास अघाड़ी महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार का नेतृत्व कर रही शिव सेना क्यों कांग्रेस पार्टी को ज्यादा महत्व नहीं दे रही है? क्यों शिव सेना के नेता एनसीपी के शरद पवार को तरजीह दे रहे हैं और कांग्रेस के खिलाफ बयान देते रहते हैं? क्यों शिव सेना ने राहुल गांधी को शरद पवार से सीखने की सलाह दी? शिव सेना क्यों कांग्रेस नेताओं जैसे नाना पटोले या भाई जगताप के बयानों पर ध्यान नहीं दे रही है? इन सब सवालों का एक ही जवाब है कि शिव सेना को कांग्रेस की मजबूरी पता है। उसे पता है कि कांग्रेस महा विकास अघाड़ी छोड़ कर कहीं नहीं जाने वाली है। कम से कम अगले दो साल तक कांग्रेस को किसी तरह से शिव सेना के साथ ही रहना है। शिव सेना छोड़ दे तो अलग बात है। यह भी पढ़ें: नरसिंह राव को याद करने का समय नहीं यह भी पढ़ें: स्वतंत्र निदेशकों के लिए भी कुछ नियम बने! दूसरी ओर एनसीपी के साथ ऐसी मजबूरी नहीं है। एनसीपी को भाजपा के साथ राजनीति करने में भी कोई दिक्कत नहीं है। पिछले कुछ दिनों से इस बात की चर्चा हो रही है… Continue reading शिव सेना जानती है कांग्रेस की मजबूरी

महाराष्ट्र में ढाई साल का पेंच!

महाराष्ट्र में ढाई साल का पेंच : महाराष्ट्र में भाजपा और शिव सेना का तालमेल इसी बात पर टूटा था। शिव सेना के नेता कह रहे थे कि बंद कमरे में अमित शाह ने वादा किया था कि मुख्यमंत्री का पद ढाई-ढाई साल के लिए दोनों पार्टियों के बीच बंटेगा। दूसरी ओर भाजपा ने इससे इनकार किया, जिसके बाद शिव सेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिल कर सरकार बनाई। पिछले दिनों फिर ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री की बात अचानक उभरी, जिस पर शिव सेना ने कहा कि एनसीपी के साथ ऐसी कोई बात नहीं हुई है और पांच साल तक शिव सेना का ही मुख्यमंत्री रहेगा। यह भी पढ़ें: कांग्रेस में शिव सेना को लेकर संदेह अब एक बार फिर ढाई साल का पेंच सामने आया है। अगले साल अप्रैल में उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री के तौर पर ढाई साल पूरे करेंगे। उसके बाद क्या होगा, इसका अंदाजा किया को नहीं है। जानकार सूत्रों का कहना है कि उसके बाद वे अगले ढाई साल तक भाजपा के समर्थन से भी मुख्यमंत्री रह सकते हैं या उनके समर्थन से अगले ढाई साल के लिए भाजपा का मुख्यमंत्री बन सकता है। हालांकि शिव सेना के नेता इससे इनकार कर रहे हैं… Continue reading महाराष्ट्र में ढाई साल का पेंच!

कांग्रेस में शिव सेना को लेकर संदेह

कांग्रेस में शिव सेना को लेकर संदेह : महाविकास अघाड़ी बनने के बाद कांग्रेस और शिव सेना में कमाल का तालमेल दिखा था। दोनों के नेताओं ने एक दूसरे पर बहुत भरोसा दिखाया था। लेकिन अब वह भरोसा टूटता दिख रहा है। यही कारण है कि दोनों ओर से बयानबाजी शुरू हो गई है। सरकार बनने के थोड़े दिन बाद ही दोनों पार्टियों में अविश्वास पैदा होने लगा था। लेकिन जानकार सूत्रों का कहना है कि शिव सेना सांसद संजय राउत की पत्नी को ईडी का नोटिस जाने के बाद ज्यादा बदलाव हुआ है। उसके बाद शिव सेना का रुख भाजपा के प्रति नरम हुआ है। फिर जब उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की तब घटनाक्रम में नया मोड़ आया। इसके तुरंत बाद संजय राउत ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की। यह भी पढ़ें: रावत और ममता की चिंता अब शिव सेना के विधायक प्रताप सरनाईक ने उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिख कर कहा कि केंद्रीय एजेंसियां बहुत परेशान कर रही हैं और इसलिए शिव सेना को भाजपा के साथ तालमेल कर लेना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि एनसीपी और कांग्रेस दोनों शिव सेना को कमजोर कर रहे हैं। कांग्रेस को इन बयानों का मतलब समझ… Continue reading कांग्रेस में शिव सेना को लेकर संदेह

और लोड करें