बूढ़ा पहाड़
UP Polling 6th Phase: यूपी में आज जमकर बरस रहे वोट! अब तक 21.79 प्रतिशत मतदान

यूपी में सुबह 11 बजे तक 21.79 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई है। इस चरण में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी उम्मीदवार हैं और उन्होंने अपना मतदान सुबह ही कर दिया है।

UP Election : अखिलेश यादव ने EVM की खराबी पर उठाए सवाल, जयंत ने कहा- लगता है किसान ज्यादा जोेर से…

श्री यादव ने सोशल मीडिया पर यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि चुनाव आयोग से अपील है और साथ ही ये अपेक्षा है कि जहां भी ईवीएम खराब होने…

Bihar Panchayat Elaction 2021 में EVM के साथ बैलेट पेपर से भी डाले जाएंगे वोट, अगस्त में होने के संकेत

पटना | Bihar Panchayat Elaction 2021: बिहार में पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Chunav 2021) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। इन चुनावों में ईवीएम के साथ ही बैलेट पेपर से भी वोट डाले जाएंगे। बैलेट पेपर से वोटिंग को लेकर बिहार राज्य निर्वाचन आयोग ने तैयारी भी शुरू कर दी है। राज्य में EVM की कमी को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने ऐसा करने का निर्णय लिया है। ऐसे में छह में से चार पदों का मतदान ईवीएम से होगा और दो पदों पर बैलेट पेपर से मतदान करवाया जाएगा। ये भी पढ़ें:- UP Assembly Elections 2022 में ताल ठोकेगी, बिहार के नीतीश कुमार की पार्टी JDU पंच-सरपंच का मतदान बैलेट पेपर से निर्वाचन आयोग के निर्णय के अनुसार, जिला परिषद, मुखिया, वार्ड सदस्य और पंचायत समिति के लिए ईवीएम से वोटिंग करवाई जाएगी। वहीं पंच और सरपंच के बैलेट पेपर से मतदान करवाया जाएगा। ये भी पढ़ें:- केजरीवाल के 300 युनिट बिजली फ्री पर कुमार विश्वास का तंज, कहा- यमुना जी में 300 युनिट फ्री बिजली तैरती हुई.. अगस्त से लेकर सितंबर-अक्टूबर तक होने के संकेत बिहार में पंचायत चुनाव अगस्त के अंतिम सप्ताह में शुरू होने के संकेत है। जो कई चरणों में होते हुए सितंबर-अक्टूबर तक करवाए जा… Continue reading Bihar Panchayat Elaction 2021 में EVM के साथ बैलेट पेपर से भी डाले जाएंगे वोट, अगस्त में होने के संकेत

किसके कहने से चलता है चुनाव आयोग?

पिछले महीने मार्च में चुनाव आयोग ने केरल की तीन राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा की थी। पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद की ओर से इस पर आपत्ति की गई। कहा गया है कि राज्य में अभी विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं, ऐसे में राज्यसभा चुनाव कैसे कराए जा सकते हैं। हालांकि दबी जुबान में चुनाव आयोग ने कहा कि पहले भी ऐसा होता रहा है और यह चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है कि वह राज्यसभा के सदस्यों का कार्यकाल पूरा होने से पहले चुनाव कराए। लेकिन आयोग की इससे ज्यादा बोलने की हिम्मत नहीं हुई और उसने चुनाव पर रोक लगा दी। सोचें, राज्यसभा का चुनाव घोषित करने के बाद देश के ‘स्वतंत्र व निष्पक्ष’ चुनाव आयोग ने उस पर रोक लगा दी। अब चुनाव आयोग ने चुनाव की तारीख का ऐलान कर दिया है। सोमवार को आयोग ने ऐलान किया कि 30 अप्रैल को तीनों सीटों पर चुनाव होगा। उसके दो दिन बाद दो मई को ही विधानसभा के चुनाव नतीजे आएंगे। लेकिन 30 अप्रैल को भी वोटिंग कराने का चुनाव आयोग का फैसला अपना नहीं है। इसके लिए उसे हाई कोर्ट से निर्देश मिला। असल में जब आयोग ने चुनाव पर रोक लगाई… Continue reading किसके कहने से चलता है चुनाव आयोग?

अब ट्रिपल इंजन की सरकार का नारा…

केंद्र से लेकर नगर निगम तक भाजपा का कब्जा नहीं होगा, तब तक देश का विकास संभव नहीं है…

गलत मौके पर सही कार्रवाई ?

चुनावों के दौरान सत्तारुढ़ और विपक्षी दलों के बीच भयंकर कटुता का माहौल तो अक्सर हो ही जाता है लेकिन इधर पिछले कुछ वर्षों में हमारी राजनीति का स्तर काफी नीचे गिरता नजर आ रहा है। केंद्र सरकार के आयकर-विभाग ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं पर छापे मार दिए हैं और उनमें से कुछ को गिरफ्तार भी कर लिया है। तृणमूल के ये नेतागण शारदा घोटाले में पहले ही कुख्यात हो चुके थे। इन पर मुकदमे भी चल रहे हैं और इन्हें पार्टी-निकाला भी दे दिया गया था लेकिन चुनावों के दौरान इनको लेकर खबरें उछलवाने का उद्देश्य क्या है ? क्या यह नहीं कि अपने विरोधियों को जैस-तैसे भी बदनाम करवाकर चुनाव में हरवाना है ? यह पैंतरा सिर्फ बंगाल में ही नहीं मारा जा रहा है, कई अन्य प्रदेशों में भी इसे आजमाया गया है। अपने विरोधियों को तंग और बदनाम करने के लिए सीबीआई और आयकर विभाग को डटा दिया जाता है। इसके कई उदाहरण हमारे सामने हैं। बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे की पत्नी रुचिरा बेनर्जी और उनके दूसरे कुछ रिश्तेदारों से एक कोयला-घोटाले के बारे में पूछताछ चल रही है और चिट-फंड के मामले में दो अन्य मंत्रियों के नाम बार-बार प्रचारित किए… Continue reading गलत मौके पर सही कार्रवाई ?

भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में ईवीएम

नई दिल्ली। असम में दूसरे चरण के मतदान के बाद गुरुवार को भाजपा के एक प्रत्याशी की गाड़ी में इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन यानी ईवीएम पकड़ी गई। लोगों ने मतदानकर्मियों को ईवीएम सहित भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में पकड़ा। बाद में चुनाव आयोग ने इस पर सफाई दी और कार्रवाई करते हुए चार अधिकारियों को निलंबित कर दिया। जिस मतदान केंद्र की ईवीएम भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी से पकड़ी गई, उस मतदान केंद्र पर मतदान रद्द कर दिया गया हैं। अब वहां दोबारा मतदान होगा। यह घटना असम की पथरकंडी विधानसभा क्षेत्र की है, जहां से भाजपा प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की गाड़ी में ईवीएम मिले। गुरुवार को देर रात इसकी खबर आई। मतदान के बाद मतदानकर्मियों की एक टीम सीलबंद ईवीएम लेकर भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी से जा रहे थे, जिसे गांव के लोगों ने रोक लिया। खबर है कि उन्होंने गाड़ी पर और मतदानकर्मियों के ऊपर हमला भी किया। इस मामले में सफाई देते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि मतदानकर्मियों की गाड़ी खराब हो गई थी और उन्होंने पास से गुजर रही एक कार में लिफ्ट ली। आयोग की सफाई में कहा गया है कि ये कार संयोग से भाजपा उम्मीदवार की निकली। इस गाड़ी पर हमला भी किया… Continue reading भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी में ईवीएम

महाराष्ट्र के नेताओं की उलटी गंगा!

महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ गठबंधन महा विकास अघाड़ी की सरकार उलटी गंगा बहाने की तैयारी कर रही है। राज्य सरकार ऐसा बिल ला रही है, जिसमें इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन की बजाय बैलेट पेपर से चुनाव कराने का प्रावधान किया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर चुनाव के सबक

जम्मू कश्मीर में हुए जिला विकास परिषद यानी डीडीसी चुनाव के नतीजों के कई सबक हैं और साथ ही सवाल भी। इनमें से कुछ सवाल पूरे देश के लिए हैं और कुछ वहां के स्थानीय नागरिकों और पार्टियों के लिए।

दिग्विजय सिंह ने ईवीएम पर फिर उठाए सवाल

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने ईवीएम पर एक बार फिर सवाल उठाए हैं और उनका कहना है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है।

मतपत्र से मतदान नहीं हुए तो 2024 का चुनाव अंतिम होगा: दिग्विजय

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने चुनाव में ईवीएम के उपयोग पर सवाल उठाए हैं और कहा है कि अगर मतपत्र की तरफ वापस नहीं लौटे तो वर्ष 2024 में होने

मप्र: भाजपा ने राज्यपाल से इवीएम गड़बड़ी का मसला उठाया

मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की और विधानसभा की इलेक्ट्रॉनिकवोटिंग मशीन में तकनीकी गड़बड़ी की स्थिति से अवगत कराया।

ईवीएम पर उठने वाले सवालों का क्या होगा

दिल्ली के चुनाव नतीजों के बाद सोशल मीडिया में भाजपा के समर्थक एक सवाल पूछे रहे हैं, जिसका जवाब निश्चित रूप से दिया जाना चाहिए। भाजपा समर्थक पूछ रहे हैं कि झारखंड और दिल्ली के चुनाव नतीजों के बाद क्या यह मान लिया जाना चाहिए

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने उठाए ईवीएम पर सवाल

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने आज दिल्ली में जारी मतगणना के बीच ईवीएम का मुद्दा उठाया है। शुरुआती रुझानों में आम आदमी पार्टी (आप) को बढ़त दिखाई गई है

ईवीएम पर होगी प्रत्याशियों की फोटो, जीपीएस से आयोग जानेगा लोकेशन

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की तरह दिल्ली विधानसभा चुनाव में भी ईवीएम पर प्रत्याशियों की फोटो लगी होगी। ईवीएम की आवाजाही पर नजर रखने के लिए आयोग जीपीएस की भी मदद लेगा। यहां निर्वाचन सदन में सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव कार्यक्रम घोषणा के दौरान यह सूचना दी गई। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि दिल्ली में सभी 70 सीटों पर एक ही चरण में आठ फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतगणना होगी व नतीजे आएंगे। आयोग ने कहा कि निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराया जाएगा। आयोग के अधिकारियों ने बताया कि ईवीएम और वीपीपैट के शुरू से लेकर आखिर तक के मूवमेंट पर नजर रखने के लिए दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को निर्देश जारी हुए हैं। लोकेशन जानने के लिए ईवीएम ले जाने वाले सेक्टर अफसरों के वाहन में जीपीएस लगा रहेगा। मतदाताओं की सुविधा के लिए ईवीएम पर प्रत्याशियों की फोटो लगी रहेगी। पोस्टल बैलेट पेपर्स पर भी उम्मीदवारों की फोटो छपेगी। आयोग का मानना है कि इससे एक ही नाम के दो या दो से अधिक उम्मीदवारों के उतरने से मतदाताओं को किसी तरह का संशय नहीं होगा। इसके लिए उम्मीदवारों को रिटर्निग अफसर को अपनी ताजातरीन तस्वीर उपलब्ध करानी… Continue reading ईवीएम पर होगी प्रत्याशियों की फोटो, जीपीएस से आयोग जानेगा लोकेशन

और लोड करें